ताज़ा गीत- love Story

11.4.12

स्पर्श की गर्मी - सब्र जबलपुरी (रितेश खरे) की आवाज़ में

मुंबई के रितेश खरे साहब ने मेरी कविता "स्पर्श की गर्मी" को अपनी आवाज़ देकर मुझे भेजा है. अपने पहले काव्य संग्रह समय समय पर मिलने वाले ऐसे बेशकीमती तोहफों के दम पर ही सांसें कायम हैं दोस्तों. आप भी सुनिए -

2 टिप्‍पणियां:

रश्मि प्रभा... ने कहा…

बेहतरीन .... इस आरम्भ के लिए शुभकामनायें

Sajeev Sarathie ने कहा…

शुक्रिया रश्मि जी